पुलिस प्रशिक्षण शाला भौरी द्वारा डिजीटल साक्ष्य चुनौतियां एवं अनुप्रयोग पर तीन दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

July 31, 2020

भोपाल। पुलिस मुख्यालय प्रशिक्षण  शाखा के निर्देशानुसार पुलिस प्रशिक्षण शाला भौरी में " डिजिटल साक्ष्य, वॉइस सैंपलिंग, वॉइस आईडेंटिफिकेशन, इलेक्ट्रॉनिक डाटा बैकअप और विशेषण के बारे में जांच,चुनौतियां और इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य का उपयोग" पर 27 जुलाई से 29 जुलाई तक तीन दिवसीय ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में मध्य प्रदेश पुलिस के 100 से  अधिक विवेचको ने हिस्सा लिया। कार्यशाला के मुख्य वक्ता  अति॰ पुलिस अधीक्षक नारकोटिक्स श्री दिलीप सोनी और निरीक्षक लोकायुक्त संगठन श्री मुकेश तिवारी ने सभी से अपने अनुभव साझा किए।

              उन्होंने अपने दीर्घ अनुभव के आधार पर बताया कि डिजिटल एविडेंस  बदलते हुए परिवेश में बहुत ही महत्वपूर्ण है तथा पुलिस की विवेचना में चुनौती और सरलता दोनों  हैं। सेमिनार में दोनों  वक्ताओं ने विवेचना के दौरान विवेचक  के सामने आने वाली कठिनाइयों के प्रश्नों का उत्तर  दिया। उन्होंने यह भी बताया की विवेचना के दौरान डिजिटल साक्ष्य एकत्रित करते समय  जो चूक होती है उसका फायदा आरोपी उठाता है। इसलिए डिजिटल साक्ष्य एकत्रित करते समय सावधानी पूर्वक कार्य करना चाहिए।

            सेमिनार के अंत में  कार्यशाला के कोऑर्डिनेटर एसपी पीटीएस भौरी श्री नीरज पांडे ने सभी वक्ताओं एवं सभी पार्टिसिपेंट्स का आभार व्यक्त किया।

Police News Image
bpl
District
Bhopal