पुलिस ने पुख्‍ता साक्ष्‍य रखकर दुष्‍कर्म के आरोपी को दिलाई दोहरी फांसी की सजा

May 13, 2019

ग्‍वालियर। आठ व‍र्षीय चचेरी बहन के साथ दुष्‍कर्म एवं उसकी हत्‍या करने वाले आरोपी मनोज प्रजापति को न्‍यायालय ने दोहरी फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी को कड़ी सजा दिलाने में ग्‍वालियर जिले की घाटीगांव थाना पुलिस द्वारा घटनास्‍थल से जब्‍त किए गए पुख्‍ता साक्ष्‍य और डीएनए रिपोर्ट प्रमुख आधार बनी है। न्‍यायालय ने मात्र 643 दिन में ट्रायल पूरी कर आरोपी को कठोरतम सजा सुनाई है। सजा सुनाते हुए सत्र न्‍यायधीश ने कहा कि ऐसे मामले में समाज की भी यही अपेक्षा है कि आरोपी को अधिकतम सजा मिले।

      गत 4 जुलाई 2017 को पनिहार निवासी बच्‍ची को उसका चचेरा भाई मनोज प्रजापति 10 रूपये का लालच देकर एक पाटौर में ले गया और वहां दुष्‍कर्म करने के बाद बच्‍ची की गला घोंटकर व पत्‍थर से सर फोड़कर हत्‍या कर दी थी। बच्‍ची जब स्‍कूल से नहीं लौटी तो पिता ने थानें में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। शक होने पर मनोज प्रजापति से जब पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। आरोपी को कड़ी सजा दिलाने के लिए तत्‍कालीन थाना प्रभारी घाटीगांव ने घटनास्‍थल से खून के धब्‍बे, बाल, शर्ट का धागा व बटन इत्‍यादि साक्ष्‍य जब्‍त किए। साथ ही डीएनए जांच कराई जिसमें खून और बाल के नमूनो का आरोपी से मिलान हो गया।

Police News Image
पुलिस ने पुख्‍ता साक्ष्‍य रखकर दुष्‍कर्म के आरोपी को दिलाई दोहरी फांसी की सजा
District
Gwalior